BIG BREAKING NEWS

निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने आज से महासुमन्द जिले में धारा 144 लागू

By: डीएनए न्यूज़
2018-10-07 12:10:56 AM
0
Share on:

 

कलेक्टर ने राजनीति दलों के पदाधिकारियों एवं प्रतिनिधियों की बैठक लेकर दी आदर्श आचार संहित की जानकारी

महासमुंद: निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही जिले में आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो गई है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री हिमशिखर गुप्ता ने सभी राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों एवं प्रतिनिधियों की बैठक लेकर चुनाव आयोग द्वारा जारी आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित करने को कहा है। कलेक्टर ने शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव संपन्न कराने के लिए जिले में दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा-144 लागू कर दी है। चुनाव संपन्न होते तक यह धारा जिले में प्रभावशील रहेगी। शस्त्रधारियों को अपना अस्त्र-शस्त्र संबंधित थाने में जमा कराने कहा गया है। उन्होंने कोलाहल अधिनियम भी लागू करते हुए इसके उपयोग के लिए लिखित अनुमति जरूरी है। 

जिला निर्वाचन अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आज छत्तीसगढ़ सहित चार राज्यों में विधानसभा आम निर्वाचन 2018 की तिथि की घोषणा कर दी गई है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ में आदर्श आचार संहिता आज से लागू हो गई है। छत्तीसगढ़ राज्य में दो चरणों में मतदान सम्पन्न होगा। उन्होंने बताया कि द्वितीय चरण के अंतर्गत जिले के चारों विधानसभाओं में 26 अक्टूबर 2018 को नॉमिनेशन का कार्य होगा। अभ्यर्थी नामांकन की अंतिम तिथि 2 नवंबर 2018 है। नॉमिनेशन स्क्रूटनी 3 नवंबर 2018 को किया जाएगा। नाम वापसी की अंतिम तारीख 5 नवंबर 2018 है। दूसरे चरण के अंतर्गत 20 नवंबर 2018 को मतदान होगा। प्रथम एवं द्वितीय चरण के तहत हुए मतदान के पश्चात् मतगणना 11 दिसंबर 2018 को किया जाएगा। उन्होंने सभी राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों एवं प्रतिनिधियों एवं सभी संबद्ध लोगांे आदर्श आचार संहिता के पालन की अपेक्षा की गई है। 

कलेक्टर ने संपत्ति विरूपण अधिनियम का भी कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने को कहा है। उन्होंने कहा है कि सरकारी सम्पतियों पर बैनर, पोस्टर, नारे लेखन, होर्डिग्स के द्वारा विरूपण नहीं किया जा सकता। तहसील स्तर पर गठित निगरानी दल इस पर नजर रखेगी। दण्ड प्रक्रिया संहिता की 144 लागू होने के बाद कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार का घातक अस्त्र-शस्त्र लेकर नहीं चलेगा। बगैर अनुमति के कोई भी राजनीतिक दल सभा अथवा जुलूस नहीं निकालेगा और न हीं कोई धरना देगा। कोलाहल नियंत्रण अधिनियम के अंतर्गत सवेरे 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक की अवधि में ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग की अनुमति एवं सार्वजनिक स्थल में सभा आयोजित करने की अनुमति तथा हेलीपेड की अनुमति सक्षम अधिकारी संबंधित एसडीएम देंगे। किसी भी हालत में रात्रि 10 बजे से लेकर सवेरे 6 बजे तक के लिए अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि निजी संपत्ति, भवन में प्रचार सामग्री भवन मालिक के अनुमति के बिना नहीं लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि लोकार्पण और शिलान्यास संबंधी कोई काम नहीं हांेगे। अभ्यर्थियों को बैंक से एक लाख रूपए से अधिक राशि निकालने पर रिटर्निंग आफिसर को सूचना देनी होगी। अभ्यर्थी 20 हजार रूपए तक नगदी खर्च कर सकता है, अधिक व्यय करने पर उन्हें चेक द्वारा भुगतान करना आवश्यक है। वैध कारण के बिना 50 हजार रूपए से अधिक नगद राशि प्राप्त होने पर उसे जब्त किया जा सकता है, 10 हजार रूपए की अधिक राशि की प्रचार सामग्री नहीं ले जा सकते। 



संबधित खबरें