छत्तीसगढ़

राजधानी में आये दिन छोटी बड़ी दुर्घटनाओ का अकेला गवाह है टांटीबंध चौक ,जल्दीबाजी  की होड़ में अंधाधुंध भागमभाग ट्रक चालको की लापरवाही 57 सडक दुर्घटनाये 13 लोगो की हो चुकी दर्दनाक मौत 

By: हरिमोहन तिवारी
2019-04-05 06:27:34 PM
0
Share on:

राजधानी में आये दिन छोटी बड़ी दुर्घटनाओ का अकेला गवाह है टांटीबंध चौक ,जल्दीबाजी  की होड़ में अंधाधुंध भागमभाग ट्रक चालको की लापरवाही 57 सडक दुर्घटनाये 13 लोगो की हो चुकी दर्दनाक मौत 


रायपुर.राजधानी की सबसे व्यस्त और उतना  ही खतरनाक टाटीबंध का चौराहा ,आये दिन छोटी बड़ी दुर्घटनाओ का अकेला गवाह है ,जल्दीबाजी य समय पर पहुचने की होड़ में अंधाधुंध भागमभाग ट्रक चालको की लापरवाही से दुर्घटना होती है ,वही तेज रफ़्तार कारो का चलन भी बढ़ गया है जिस से आए दिन दुर्घटना हो रही जिसे लेकर थाना आमनाका प्रभारी ने नोटिस जारी करते हुए उल्लेख किया की टाटीबंध के जानलेवा चौराहा को तोड़कर नया बनाने नोटिस जारी किया गया है. नोटिस पर अमल नहीं करने पर एनएचएआई के खिलाफ क़ानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है. आमानाका थाना प्रभारी ने ये नोटिस एनएचएआई के महाप्रबंधक को दिया है. सीआरपीसी की धाराओं के तहत नोटिस जारी कर चौक में सुधार और पुनःनिर्माण करने के निर्देश दिए गए हैं.
नोटिस में उल्लेखित किया गया है कि जनवरी 2018 से मार्च 2019 तक टाटीबंध चौराहा में 57 घटनाएँ हो चुकी हैं. इन घटनाओं में 13 लोगों की दर्दनाक मौत हो चुकी है. साथ ही 28 लोग घायल हो चुके हैं. इसके अलावा आये दिन छिटपुट घटनाएँ होती रही हैं. साथ ही दर्जनों गाड़ियाँ क्षतिग्रस्त हो चुकी है.
शहर को छूकर निकलने वाली रिंग रोड पर जोखिम कम करने के साथ चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था बनाने के लिए पुलिस ने कवायद अब तेज कर दी है. पहली किस्त में टाटीबंध चौक पर बनाए गए पुराने निर्माण को ध्वस्त कर यहां पर ट्रैफिक सिस्टम तैयार करने नया प्रस्ताव एनएचएआइ को दिया है. नए प्रस्ताव पर पुलिस ने मांग की है कि पुराने निर्माण तोड़कर सड़क में लेयर की सीधी लाइन तय की जाए, इससे अंधे टर्न पर गाड़ियों में टकराव कम हो सकेगा.



संबधित खबरें