छत्तीसगढ़

पृथक छत्तीसगढ़ के प्रथम स्वप्न द्रष्टा की जन्मभूमि में हुआ मुख्यमंत्री भूपेश का जोरदार स्वागत, 50 लाख की हुई घोषणा

By: हरिमोहन तिवारी / सुरेन्द्र जैन
2019-02-22 04:48:31 PM
0
Share on:

  • डॉ खूबचन्द बघेल का स्वप्न साकार करने 50 लाख की घोषणा

रायपुर। प्रथक छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम स्वप्न द्रष्टा स्वाधीनता सैनानी डॉ खूबचन्द बघेल की जन्मभूमि धरसीवा के ग्राम पथरी में शुक्रवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया।
    इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने डॉ खूबचन्द बघेल का स्वप्न साकार करने नरवा गरवा घुरुआ बाड़ी के लिए 50 लाख की घोषणा मंच से की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि नरवा अर्थात नहरों सहित सभी जल स्रोतों का संरक्षण संवर्धन होना बहुत जरूरी है ओर गरुवा का संरक्षण संवर्धन भी जरूरी है।

उनके लिए चारागाह हो उनके लिए पर्याप्त हरि घांस व चारा उपलब्ध रहे उनके बीमारी में इलाज का समुचित प्रबंध हो साथ ही गांव गांव में घुरुआ हों ताकि उनसे खाद प्राप्त हो जिससे कृषि कार्य मे कम लागत में उत्पादन भी बेहतर बन सके यही हमारी प्राचीन संस्कृति और हमारी प्राथमिकता है और यही हमारे प्रथक छत्तीसगढ़ के प्रथम स्वप्न द्रष्टा स्वाधीनता सैनानी डॉ खूबचन्द बघेल जी का सपना था।

हम उन्ही के सपने को साकार करने जा रहे हैं इसके लिए पथरी गांव  को उन्हने 50 लाख रुपये की घोषणा की ग्राम पंचायत सरपंच श्रीकांत बघेल ने घोषणा का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री का ग्रामीणों की ओर से आभार व्यक्त किया।
 कार्यक्रम में सांसद रमेश बेस,राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा, भूपेश मंत्रिमंडल के कुछ अन्य सदस्य भी मौजूद थे ।
  (17 साल बाद फिर पहुचे कांग्रेसी मुख्यमंत्री)

डॉ खूबचन्द बघेल की जन्मभूमि पथरी में इसके पूर्व 2002 में पुण्य तिथि के अवसर पर ही तत्तकालीन मुख्यमंत्री अजीत जोगी पहुचे थे इसके बाद उक्त गांव में कोई सीएम नही पहुच अब 17 साल बाद फिर कांग्रेसी मुख्यमंत्री का पथरी में पुण्यतिथि पर आगमन होने से ग्रामीण काफी प्रसन्नता हैं।



संबधित खबरें