छत्तीसगढ़

महापौर ने बेरोजगार हितग्राहियों को किया प्रोत्साहित, रोजगार दिलाने होगी पहल... स्थानीय की होगी पहली प्राथमिकता

By: हरिमोहन तिवारी/प्रकाश सिन्हा
2019-01-04 09:34:22 PM
0
Share on:

रायपुर। रायपुर महापौर प्रमोद दुबे ने आज  शहर के ढाई सौ बेरोजगार युवक-युवतियों को रोजगार से जोडऩे के लिए हुए कार्यक्रम की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि रायपुर नगर निगम द्वारा बेरोजगारों को रोजगार दिलाने की सराहनीय पहल की जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि विभिन्न सेक्टरों में सबसे पहले स्थानीय लोगों को रोजगार दिलाने की व्यवस्था की जा रही है।

राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन एनयूएलएम के एपीओ डॉ. तृप्ती सोनी तथा मैनेजर सुनीता सिन्हा ने बताया कि महिन्द्रा, मुथुत, रिलायंस जैसे 32 सेक्टरों में बैंकिंग तथा अन्य कार्यों से रोजगार देने हेतु नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग फाईनेंस द्वारा बेरोजगारों को टे्रनिंग देने के बाद प्लेसमेंट के माध्यम से नौकरियां भी लगाई जाती है।

इससे बेरोजगार आत्मनिर्भर हो जाते है। 12वीं पास तथा स्नातक होकर बेरोजगार बैठे 250 युवक, युवतियों को एनयूएलएम के माध्यम से खोजा गया है। आज निगम के मुख्यालय भवन में उन्हें बुलाकर सेमीनार का आयोजन किया गया। जिसकी महापौर प्रमोद दुबे ने अध्यक्षता की।
महापौर श्री दुबे ने सभी को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि रायपुर नगर निगम द्वारा बेरोजगारों को नौकरियां दिलाने के साथ ही आत्मनिर्भर बनने की भी ट्रेनिंग दी जा रही है। एनयूएलएम के माध्यम से प्रशिक्षित कई युवक, युवतियां स्वरोजगार भी पा चुकी है। उन्हें रोजगार खोलने के लिये बैंकों के माध्यम से लोन भी दिलाया गया है।

वर्तमान में आये ढाई सौ युवक युवतियों में से 12वीं पास तथा स्नातक हितग्राहियों को अलग-अलग छटनी की जाएगी। 12वीं पास हितग्राहियों को 9 सप्ताह तथा स्नातक हितग्राहियों को 6 सप्ताह का प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण उपरांत नेशनल इंस्टीट्यूट बैंकिंग फाईनेंस द्वारा उन्हें 32 सेक्टरों में प्लेसमेंट के माध्यम से रोजगार भी दिलाया जाएगा।



संबधित खबरें