छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के तीसरे व कांग्रेस के प्रथम निर्वाचित मुख्यमंत्री बने भूपेश बघेल, राज्यपाल ने दिलाई गोपनीयता की शपथ 

By: हरिमोहन तिवारी/प्रकाश सिन्हा
2018-12-17 09:37:21 PM
0
Share on:

  • भूपेश बघेल ने थामी छत्तीसगढ़ की कमान, राज्यपाल आनंदी बेन ने दिलाई मुख्यमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ 

 
रायपुर 17 दिसम्बर 2018। राज्यपाल आनंदीबन पटेल ने आज इंडोर स्टेडियम में भूपेश बघेल को मुख्यमंत्री पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। उनके साथ टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने भी मंत्री पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस और यूपीए महागठबंधन के राजनीतिक दलों के तमाम नेता शामिल हुए। 
कांग्रेस के लिए उपलब्धियों से भरा है आज का दिन 
आज कांग्रेस के लिए बड़ी उपलब्धि का दिन है। कभी पूरे देश में राज करने वाली कांग्रेस हाल में पांच राज्यों के चुनाव होने से पहले तक सिर्फ पंजाब और केंद्र शासित राज्य पुडुचेरी तक सिमट गई थी, लेकिन तीन राज्यों की जीत ने कांग्रेस के अंदर नई ऊर्जा भर दी है। कर्नाटक में पार्टी जनता दल (सेकुलर) के साथ गठबंधन सरकार चला रही है, लेकिन चुनाव नतीजे आने के बाद तीन और राज्य उसके खाते में जुड़ गए। 
पिता नंदकुमार ने भूपेश बघेल को लगाई थी फटकार, पढ़ लिखकर इंजीनियर बन, राजनीति ही करनी है तो मुख्यमंत्री बनकर दिखा। करीब 35 साल पहले भूपेश बघेल जब राजनीति में अत्यधिक रुचि लेने लगे तब उनके पिता नंदकुमार बघेल ने उन्हें बुलाकर फटकार लगाई कि पढ़ाई लिखाई में ध्यान दो। तुम्हारी बहने इंजीनियर बन गई है, तुम भी पढ़-लिखकर इंजीनियर बनो, राजनीति ही करनी है तो फिर मुख्यमंत्री बनकर दिखाओ। भूपेश बघेल पिता की इस 
बात की इस बात को गांठ बांध ली। उन्होंने राजनीति की राह रफ्तार पकड़ी। कई बार हार का सामना करना पड़ा। सत्ता का सुख भोगा, विपक्ष में रहकर पथरीले रास्तों में भी आगे बढ़े। 2014 में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बने, तब किसी ने नहीं सोचा था कि 2018 में कांग्रेस इतनी सीटें जीतेगी कि उसका रिकार्ड छत्तीसगढ़ के इतिहास में अमिट हो जाएगा। सालों पहले अपने पिता को दिए अपने जुबान पर भूपेश बघेल आज सच्चे साबित हो गए। 
 समारोह में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खडगे, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पीएल पुनिया, मोतीलाल वोरा, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ,आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमार स्वामी, पांडुचेरी के मुख्यमंत्री नारायण सामी,  राजद नेता तेजस्वी यादव शामिल हुए। इनके अलावा कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव बीके हरिप्रसाद, आनंद शर्मा, उद्योगपति नवीन जिंदल आरपीएन सिंह, नवजोत सिंह सिद्धू, राज बब्बर, प्रवक्ता जयवीर शेरगिल, रागिनी नायक, सांसद अखिलेश सिंह, विधायक अश्वनी कोटवाल, मीडिया समन्वयक राधिका खेरा, ओडिशा पीसीसी अध्यक्ष निरंजन पट्नायक उपस्थित थे। 
 पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह भी पहुंचे, मोतीलाल वोरा से होती रही गुप्तगू
शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह भी पहुंचे। मंच पर उनका राज्य सभा सांसद मोतीलाल वोरा ने स्वागत किया। मंच पर डॉ. रमन सिंह और मोतीलाल वोरा के बीच काफी समय तक गुप्तगू होती रही। इस अवसर पर डॉ. रमन सिंह ने जनता  का अभिवादन भी किया। समारोह में प्रदेश के पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल समेत कई वरिष्ठ नेता भी उपस्थित थे। 
 



संबधित खबरें