महासमुन्द

कांग्रेस के चुनावी वादों ने किया कमाल, महासमुंद की चारों सीटों पर किया कब्जा

By: हेमन्त वैष्णव
2018-12-13 10:59:23 AM
0
Share on:

 

कांग्रेस की आंधी में चारों विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी को पराजय का मुंह देखना पड़ा।

महासमुंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में मोदी का मैजिक नहीं चला। कांग्रेस की आंधी में चारों विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी को पराजय का मुंह देखना पड़ा। कांग्रेस प्रत्याशियों ने पहले राउंड से ही बढ़त बनाकर शानदार जीत हासिल की। राहुल गांधी का जादू चल गया। कर्ज मॉफी और 2500 रुपए समर्थन मूल्य की घोषणा ने कांग्रेस के लिए संजीवनी का काम किया। कांग्रेस की जीत के बाद जमकर आतिशबाजी की गई। मंगलवार कांग्रेस के लिए मंगलमयी रहा।

 

चारों विधानसभा में नए प्रत्याशी 

महासमुंद जिले में कोई भी विधायक लंबे समय तक राज नहीं कर पाया है। हर बार जनता ने चेहरा बदला है। इसी क्रम को जारी रखते हुए जनता ने एक बार फिर चारों विधानसभा में नए प्रत्याशियों को चुना है। महासमुंद विधानसभा से सबसे पहले विजेता की घोषणा हुई। विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने सर्वाधिक 49353 वोट हासिल कर 23066 वोट से जीत हासिल की। दूसरे क्रम में बीजेपी प्रत्याशी पूनम चंद्राकर रहे, जिन्होंने 26290 वोट प्राप्त किए। तीसरे क्रम पर त्रिभुवन महिलांग 24839 वोट हासिल किए। चौथे क्रम में मनोजकांत साहू ने 21911 वोट हासिल की।

 

वहीं निर्दलीय प्रत्याशी विमल चोपड़ा ने 20989 वोटों के साथ पांचवें क्रम पर रहे। नोटा पर 2085 लोगों ने बटन दबाया। पहले चरण से ही कांग्रेस के प्रत्याशियों ने दबदबा बनाए रखा। पहले चरण में कांग्रेस प्रत्याशी विनोद चंद्राकर 2 हजार वोटों से बीजेपी से आगे रहे। यह क्रम लगातार जारी रहा। बसना से देवेंद्र बहादुर सिंह भी पहले राउंड में 1951 वोटों से बीजेपी से आगे रहे। कांग्रेस प्रत्याशी विनोद चंद्राकर ने कहा कि जमीन से जुड़े लोग हैं, जनता ने कांग्रेस पर भरोसा किया है, उस पर खरा उतरेंगे।

 

खल्लारी विधानसभा में द्वारिकाधीश जीते

खल्लारी विधानसभा में भी एकतरफा जीत कांग्रेस प्रत्याशी ने हासिल की। कांग्रेस के द्वारिकाधीश यादव ने 96108 वोट प्राप्त किए। दूसरे क्रम पर बीजेपी की मोनिका साहू 39130 वोटों के साथ दूसरे स्थान पर रही। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के परेश बागबाहरा 12649 वोट के साथ तीसरे क्रम पर रहे। निर्दलीय प्रत्याशी भूखलाल साहू 5228 को वोट मिले। नोटा में 499 लोगों ने वोट दिया। जीत के बाद द्वारिकाधीश ने कहा कि यह जीत कार्यकर्ता की जीत है। कार्यकर्ताओं की मेहनत का फल हमें मिला है।

 

बसना से देवेन्द्र बहादुर सिंह की जीत

बसना विधानसभा क्रमांक-40 में कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र बहादुर सिंह ने जीत हासिल की। उन्होंने 67535 वोट प्राप्त किए। दूसरे क्रम पर निर्दलीय संपत अग्रवाल रहे। उन्होंने 50027 वोट हासिल किए। बीजेपी के दुर्गाचरण पटेल को 36394 वोट मिले। त्रिलोचन नायक को 7758 वोट मिले। नोटा में 2431 मतदाताओं ने बटन दबाया।

 

सरायपाली में किस्मत लाल नंद ने जीता दिल

सरायपाली विधानसभा क्रमांक-39 में कांग्रेस प्रत्याशी किस्मत लाल नंद की जनता ने किस्मत ही बदल दी है। 103002 वोट हासिल कर जीत हासिल की। भाजपा के श्याम तांडी को 48014 वोट मिले। 3270 लोगों ने नोटा का उपयोग किया। छबिरात्रे को 1849 मत मिले। किस्मत लाल नंद ने चर्चा में बताया कि इस बार परिवर्तन की लहर ने बड़ा कार्य किया। सरायपाली को जिला बनाने के लिए चर्चा की जाएगी। 15 वर्ष से बीजेपी के शासन से जनता त्रस्त हो चुकी थी।



संबधित खबरें