महासमुन्द

खलिहान में धान की रखवाली कर रहा था किसान, आ धमके 20 हाथी जब किसान हाथियों की चिंघाड़ने की आवाज सुनी

By: डीएनए न्यूज़ महासमुंद
2018-12-07 12:14:43 PM
0
Share on:

खलिहान में धान की रखवाली कर रहा था किसान, आ धमके 20 हाथी जब किसान हाथियों की चिंघाड़ने की आवाज सुनी

 

महासमुंद | धान कटाई के बाद से सिरपुर क्षेत्र में हाथियों का आतंक जारी है। बुधवार की रात करीब 10 बजे हाथियाें का दल खड़सा गांव पहुंचा। यहां हाथियों के दल ने खलिहान में रखी धान की फसल को नुकसान पहुंचाया और वापस जंगल की ओर रवाना हो गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव का किसान पंचराम ध्रुव धान मिंजाई के बाद अपने खलिहाल में ही धान की रखवाली के लिए सो गया। 

 

रात करीब 10 बजे उसने हाथियों के चिंघाड़ने की आवाज चुनी। हाथियाें की आवाज से जब उसकी नींद खुली तो सामने हाथियों का दल मौजूद था। पंचराम ने वहां से किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। पंचराम ने बताया कि हाथियों की संख्या करीब 20 के आसपास थी, जिसमें नन्हें हाथी भी शामिल थे। 

 

दिन में जंगल और रात में खेतों में पहुंच रहे हाथी 

 

पिछले सप्ताहभर से हाथियों का दल सिरपुर क्षेत्र में फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है। हाथियों का दल दिन में जंगल में आराम फरमाता है और रात होते ही खेत-खलिहान पहुंचकर फसलों को नुकसान पहुंचाता है। मंगलवार की रात हाथियों के दल ने अचानकपुर में और सोमवार की रात लहंगर में फसलों को नुकसान पहुंचाया था। हाथी भगाओ-फसल बचाओ के संयोजक राधेलाल सिन्हा ने बताया कि हाथियाें का दल पिछले सप्ताहभर से यहां के मरघट नाला में जमा हुआ है। 20 की संख्या में मौजूद हाथियों का दल रोजाना रात में खेतों में पहुंचकर फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है। दिन में दल वापस जंगल लौट जाता है।



संबधित खबरें