महासमुन्द

60 लाख की लागत से बने हाट बाजार के शेड को उद्घाटन का है इंतजार

By: डीएनए न्यूज़ हेमन्त वैष्णव
2018-12-04 05:21:21 PM
0
Share on:

60 लाख की लागत से बने हाट बाजार के शेड को उद्घाटन का है इंतजार

-शेड बन जाने के बाद बारह महीने बिना अवरोध के संचालित हो सकेगा साप्ताहिक बाजार-0

आचार संहिता के चलते नही हो रहा है ग्राम केदुवां स्थित हाट बाजार का उद्घाटन-

 

*सरायपाली. यहां से 20 किमी दूर ग्राम केदुवां में 60 लाख रूपये की लागत से बने हाट बाजार को उद्घाटन का इंतजार है. मण्डी बोर्ड से स्वीकृत इस हाट बाजार का काम पूर्ण हो चुका है लेकिन ऐन समय में आचार संहिता लग जाने के कारण इसका उद्घाटन नही हो सका है. शेड  बन जाने के बाद यहां लगने वाले साप्ताहिक बाजार के व्यापारी, धूप, बारिश से बच सकेंगे. शेड के नीचे 250 से 300 विक्रेता आसानी से  बैठकर अपना सामान बेच सकते हैं. केदुवां स्थित साप्ताहिक बाजार इस अंचल का सबसे पुराना बाजार है. यहां पर लगभग 20 गांव के लोग  बाजार के दिन गुरूवार को क्रय विक्रय करने के लिए पहुंचते हैं. अब प्रदेश में निवार्चित सरकार गठन के बाद ही इसका लोकार्पण  होने की उम्मीद है. 

 

ग्राम केदुवां इस क्षेत्र का सबसे बड़ा गांव है . ग्राम बिजातीपाली एवं केदुवां एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. यहां पर हायर सेकेण्ड्री स्कूल, कई प्राइवेट स्कूल, बैक, स्वास्थ्य केंन्द्र, साख सहकारी समिति आदि कई संस्थाऐं हैं. व्यापारिक दृष्टि से भी आम दिनों में यहां पर किराना, कपड़ा, दवाई दुकान, कृषि सेवा केन्द्र संचालित हैं. जिसके चलते इस क्षेत्र के लोगों का यहां पर आना होता है. सबसे अधिक गुरूवार साप्ताहिक बाजार में भीड़ लगती है. यहां से सरायपाली  दूरी ज्यादा होने के कारण कई सामानों की खरीदी स्थानीय बाजार में ही लोग कर लेते हैं. अक्सर बारिश के दिनों में बाजार नही लग पाता था. इसे देखते हुए शेड निर्माण की मांग लंबे समय से यहां के लोग कर रहे थे. इसके लिए मण्डी बोर्ड ने 60 लाख रूपये स्वीकृत किए. जिससे 10 शेड बना हुआ है. इसके बन जाने से अब बारिश, तेज धूप के दिनों में भी व्यवसाय प्रभावित नही होगा. आसानी से शेड के नीचे व्यापारी अपना समान बेच सकेंगे.

 

ऊषा तेजराम पटेल सरपंच केदुवां ने बताया कि लोगों की आवश्यकता को ध्यान में रखकर शेड निर्माण हुआ है. इस क्षेत्र का सबसे बड़ा हाट बाजार है, यहां सबसे अधिक खरीदी होती है. शेड बन जाने के  बाद ग्राहकों एवं विक्रेताओं को सुविधा होगी. प्रत्येक सप्ताह अब बाजार सुचारू रूप से चल सकेगा. 



संबधित खबरें