छत्तीसगढ़

पात्रता जांचे बिना छात्रों के फार्म यूनिवर्सिटी भेजने वाले कॉलेज फंसेंगे। बाद में छात्रों के अपात्र किए जाने पर सारी जवाबदारी कॉलेजों की होगी।

By: डीएनए न्यूज़ छत्तीसगढ़
2018-11-29 11:35:33 AM
0
Share on:

 

बिना जांच किए छात्रों के फार्म विवि भेजने वाले कॉलेज फंसेंगे

पात्रता जांचे बिना छात्रों के फार्म यूनिवर्सिटी भेजने वाले कॉलेज फंसेंगे। बाद में छात्रों के अपात्र किए जाने पर...

पात्रता जांचे बिना छात्रों के फार्म यूनिवर्सिटी भेजने वाले कॉलेज फंसेंगे। बाद में छात्रों के अपात्र किए जाने पर सारी जवाबदारी कॉलेजों की होगी। पं.रविशंकर शुल्क विश्वविद्यालय से सेमेस्टर परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। अफसरों का कहना है कि आवेदन के बाद उसकी प्रिंट कॉपी छात्रों को कॉलेजों में जमा करनी होगी। फिर कॉलेज देखेंगे कि वे परीक्षा के लिए पात्र हैं या नहीं? उसके अनुसार वे आवेदन विश्वविद्यालय भेजेंगे। फिर छात्रों को परीक्षा में शामिल होने का अवसर दिया जाएगा। इस मामले में पूरी जिम्मेदारी कॉलेजों की होगी। इसलिए उन्हें आवेदन के मामले में गंभीरता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। 

 

एमए, एमकॉम, एमएससी, बीपीएड, बीएड, एमएस.डब्ल्यू समेत अन्य की सेमेस्टर परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हुई है। इसके लिए 9 दिसंबर तक ऑनलाइन आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। जबकि आवेदन की प्रिंट कॉपी छात्रों को कॉलेजों में 11 दिसंबर तक जमा करनी होगी। विवि के अफसरों ने बताया कि ऑनलाइन आवेदन के बाद छात्रों को दो प्रिंट निकालना होगा। एक प्रिंट कॉलेज में जमा होगी और दूसरी प्रिंट कॉपी वे अपने पास रखेंगे। ताकि बाद में इस संबंध में कोई परेशानी हो तो संबंधित प्रिंट कॉपी का इस्तेमाल किया जा सके। 

 

विवि के अफसरों का कहना है कि कॉलेजों को नियमानुसार छात्रों की उपस्थिति पर भी ध्यान देना जरूरी है। 60 फीसदी से जिसकी कम उपस्थिति है, उनके फार्म विवि न भेजे जाएं। 

 



संबधित खबरें