महासमुन्द

वन विभाग ने अफसरों से पूछा- कैसे हुई हाथी के बच्चे की मौत, मचा हड़कंप

By: डीएनए न्यूज़
2018-11-29 08:57:02 AM
0
Share on:

वन विभाग ने अफसरों से पूछा- कैसे हुई हाथी के बच्चे की मौत, मचा हड़कंप

डीएनए न्यूज़ महासमुन्द

साथ घायल होने वाले वन्य प्राणियों के संरक्षण के लिए किए जा रहे उपायों का ब्यौरा मांगा है।

रायपुर. वन विभाग मुख्यालय ने अफसरों से पूछा कि हाथी के बच्चे की मौत कैसे और किन परिस्थितियों में हुई है। उसके उपचार के लिए किस तरह की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी। इसकी विस्तृत रिपोर्ट एलीफेंट रिजर्व प्रभारी और जिला वनमंडल अधिकारी से मांगी गई है। साथ घायल होने वाले वन्य प्राणियों के संरक्षण के लिए किए जा रहे उपायों का ब्यौरा मांगा है।

 

बताया जाता है कि अभयारण्य और जंगल सफारी में लगातार वन्य प्राणियों के मौत से विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। ज्ञात हो कि 26 नवम्बर को महासमुंद स्थित ग्राम चपरीद के पास हाथी का बच्चा घायल अवस्था में मिला था। उसके शरीर पर चोट के निशान मिले थे। हालात को देखते हुए उसे उपचार के लिए बारनवापारा स्थित पासिद कैंप में रखा गया था। लेकिन, उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

 

डेढ़ माह में 12 से अधिक मौत

 

वन विभाग की कस्टडी में रखे गए 12 से अधिक संरक्षित वन्य जीव की पिछले डेढ़ महीने में संदिग्ध अवस्था में मौत हो चुकी है। इसमें बिलासपुर स्थित कानन पेंडारी में 8 चौसिंगा और जंगल सफारी में 4 शेर का शावक शामिल है। बताया जाता है कि दोनों ही घटनाओं में लापरवाही बरतने की जानकारी मिली थी। लेकिन, किसी के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं की गई। गौरतलब है कि हाथी और शेर को अनुसूची-1 के तहत संरक्षित वन्य जीव की श्रेणी में रखा गया है।

 

रिपोर्ट मांगी

हाथी के बच्चे की मौत कैसे और किन परिस्थितियों में हुई इसकी विभागीय अधिकारी से जानकारी मांगी गई है। इसकी रिपोर्ट मिलने के बाद ही सारी स्थिति स्पष्ट होगी।

 

कौशलेन्द्र सिंह, पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ



संबधित खबरें