महासमुन्द

महासमुन्द सिरपुर से भटक कर रायपुर के नजदीक पहुंचे जंगली हाथियों के दल में हाथी सोसल मिडिया में 5 सावको को जन्म देने का पोस्ट वायरल

By: डीएनए न्यूज़ हेमन्त वैष्णव
2018-11-24 05:13:56 PM
0
Share on:

महासमुन्द सिरपुर से भटक कर रायपुर के नजदीक पहुंचे जंगली हाथियों के दल में शिशु हाथी हुआ घायल, इलाज करने पहुंची टीम

हाथी के झुण्ड में मौजूद हाथी का एक बच्चा घायल हो गया है

 

महासमुन्द सिरपुर से भटक कर रायपुर से कुछ ही दूरी पर स्थित आरंग के पास एक गांव चपरीद में करीब 12 जंगली हाथियों का झुंड देखा गया है। मिली जानकारी के अनुसार हाथी के झुण्ड में मौजूद हाथी का एक बच्चा घायल हो गया है। ग्रामीणों द्वारा हाथी के बच्चे को नदी से बाहर निकाल लिया गया है। साथ ही हाथी के बच्चे के इलाज के लिए रायपुर से डॉक्टरों की टीम बुलाई गई है। बच्चे को इलाज के बाद नदी में वापस छोड़ दिया गया है।

 

सोसल मीडिया में 17 जंगली हाथियों 5 सावक का जन्म

 

17 हाथियों का झुंड एक बार फिर आरंग के  चपरीद गांव में आ पहुंचे जिसमें से एक मादा हाथी ने 5 शावको को जन्म दिये व एक शावक पानी में डूब गया था जिसे आरंग पुलिस व ग्रामीणों के सहयोग से सकुशल बाहर निकाला गया हालाकि 5 सेवको को जन्म वाली बातें आधिकारिक तौर पर पुष्टि नही हो पाया है

 

यह झुंड तेजी से ग्रामीण आबादी की ओर बढ़ रहा है जिससे ग्रामीण दहशत में हैं। सिरपुर का जंगल पास होने से यहां आए दिन जंगली हाथियों का डर मंडराता रहता है। पर प्राय: ये हाथी महानदी के दूसरी ओर होते हैं, जहां ज्यादा आबादी नहीं है। मिली जानकारी के अनुसार अब ये हाथी नदी पार कर जंगल की ओर बढ़ रहे हैं।पर रायपुर रेंज के डीएफओ का कहना है की हाथियों के झुण्ड की नदी पार करने की संभावना नहीं है।

सताने लगा खतरा

जंगली हाथियों के दल को ग्रामीण आबादी की ओर बढ़ते देखकर लोगों में दहशत का माहौल हैं। साथ ही उन्हे जान माल का खतरा भी सताने लगा है। हाथियों के इन मुवमेंट की सूचना वन विभाग को दे दी गई है। वन विभाग की टीम ने लगातार हाथियों पर अपनी नजर बनाई हुई हैं।

 

सिरपुर से आते हैं ये झुण्ड 

हाथियों का ये झुण्ड सिरपुर क्षेत्र से आरंग की ओर आता है। पहले भी हाथियों का झुण्ड यहाँ विचरण करते हुए यहां आ चूका है। सिरपुर से लगे होने के कारण अक्सर महासमुंद, आरंग, चपरीद और समोदा की ओर जंगली हाथियों का दल घूमता रहता है। जिससे लोगों में जानमाल के नुक्सान का खतरा भी बना रहता है।



संबधित खबरें