महासमुंद न्यूज़

गैस कीमतों में हुआ बढ़ोतरी उज्ज्वला के तहत रिफलिंग कराने वालों को पड़ रहा है महंगा

By: डीएनए न्यूज़ महासमुन्द
2018-11-23 11:27:49 AM
0
Share on:

उज्ज्वला योजना का लाभ लेने वाले उपभोक्ताओं पर भार बढ़ गया है।

महासमुंद. घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी के बाद से लोगों के घर का बजट बिगड़ गया है। उपभोक्ताओं को ज्यादा रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। इससे उज्ज्वला योजना का लाभ लेने वाले उपभोक्ताओं पर भार बढ़ गया है। सिलेंडर का दाम बढऩे से रिफलिंग भी नहीं करा रहे हैं। वर्तमान में सिलेंडर की कीमत 1017 रुपए है। इसकी सब्सिडी 504 रुपए खाते में आ रही है। इस तरह गैस सिलेंडर के लिए 513 रुपए चुकाने पड़ रहे हैं।

 

गैस के दाम बढऩे के बाद सबसे ज्यादा समस्या उन उपभोक्ताओं को हो रही है, जिनके खाते में अब भी सब्सिडी नहीं आ रही है और जिन्होंने सब्सिडी छोड़ दी है। ऐसे उपभोक्ता भी सामने आ रहे हैं, जिन्होंने सब्सिडी छोड़ दी थी, लेकिन अब वे सब्सिडी लेना चाहते हैं। शहर में केवल दो एजेंसियां हैं। दोनों एजेंसियों में लगभग 20 प्रतिशत लोग ही रिफलिंग करा रहे हैं। जिले में 13 एजेसिंया हैं। जिले में उज्ज्वला योजना के लगभग एक लाख 25 हजार कनेक्शन हैं। जिले में सामान्य कनेक्शन लगभग 74 हजार है। जानकारी के मुताबिक उज्ज्वला योजना के तहत जो लोग 14 किलो का गैस सिलेंडर नहीं ले पा रहे हैं, उनके लिए 5 किलो का सिलेंडर भी आया है। वर्ष में 5-5 किलो के 34 सिलेंडर ले सकते हैं।

 

जानिए ऐसे बढ़ी कीमत

 

अप्रैल में सिलेंडर की 721.50 रुपए कीमत थी, इसमें सब्सिडी 222.63 रुपए मिल रही थी, इसके बाद जुलाई में 879 रुपए हुआ। सब्सिडी 358 रुपए थी। सितंबर में 896 रुपए कीमत हुई, सब्सिडी 377 रुपए हुई। नवंबर में 1017 रुपए कीमत हुई, 504 रुपए सब्सिडी आ रही है। अप्रैल से अब तक उपभोक्ताओं पर 15 रुपए का भार पड़ा है। वहीं सब्सिडी छोडऩे वाले सक्षम वर्ग के ऊपर 296 रुपए का भार पड़ रहा है।

 

फैक्ट फाइल

 

घरेलू सिलेंडर के दाम= 1018

घरेलू सब्सिडी: 504

कुल कीमत: 513

उज्ज्वला के तहत गैस कनेक्शन 1 लाख 25 हजार

सामान्य कनेक्शन: 74 हजार

 

उज्ज्वला योजना का लाभ लेने वाले बहुत कम उपभोक्ता ही रिफलिंग करा रहे हैं। अभी भी गांवों में लकड़ी से ही खाना पकाया जा रहा है। हमने छोटा सिलेंडर भी सुविधा के लिए रखा है, उसमें भी सब्सिडी मिलती है, लेकिन वो भी कम लेकर जा रहे हैं।

स्वप्निल महोबिया, साईं इंडेन एकता चौक, महासमुंद

 

सिलेंडर के दाम बढऩे का भार उपभोक्ताओं पर पड़ रहा है। इस वजह से उज्ज्वला योजना का लाभ लेने वाले कम ही रिफलिंग करा रहे हैं।

पंकज चंद्राकर, गौरव एजेंसी

 

कीमतें शासन स्तर व ऑयल कंपनियां तय करती हैं। स्थानीय स्तर पर नहीं होता है। हम उपभोक्ताओं को प्रेरित करते हैं। 

अजय यादव, जिला खाद्य अधिकारी



संबधित खबरें