छत्तीसगढ़

चुनावी पास जारी करने स्थानीय और ग्रामीण पत्रकारों के साथ किया सौतेला व्यवहार, नहीं कर सकेंगे मतदान का कवरेज

By: डीएनए न्यूज़। महासुमन्द
2018-11-18 07:50:04 AM
0
Share on:

पास के लिए जनसंपर्क अधिकारी द्वारा पत्रकारों को नहीं दी गई सूचना

सरायपाली 18 नवम्बर 2018। आगामी 20 नवम्बर को विधानसभा चुनाव होने वाला है, जिसका समाचार कवरेज पत्रकारों के द्वारा हर चुनाव में किया जाता है. लेकिन इस बार पत्रकारों को पास जारी न किए जाने से उनमें खासी नाराजगी देखी जा रही है. पूर्व में जनसंपर्क विभाग के माध्यम से अनुविभाग कार्यालय के द्वारा स्थानीय पत्रकारों की चुनावी न्यूज कवरेज के लिए सूची मंगवाई जाती थी, लेकिन इस वर्ष पहलीबार बिना सूची मंगवाए समय सीमा समाप्ति की बात कही जा रही है और सरायपाली, बसना, पिथौरा तक किसी भी स्थानीय पत्रकारों को चुनावी पास जारी नहीं किया गया है.

 

आज सरायपाली श्रमजीवी पत्रकार संघ के सदस्य एसडीएम आॅफिस चुनावी पास बनवाने के लिए पहुंचे थे. तभी एसडीएम के द्वारा बताया कि पास बनवाने की समय सीमा समाप्त हो गई है. इस बार जिला मुख्यालय से ही निर्वाचन पास जारी किया जा रहा है. पूर्व में सरायपाली एसडीएम आॅफिस से सूचना मिलती थी और पत्रकारों की सूची मंगवाई जाती थी. इस बार जनसंपर्क अधिकारी महासमुंद को चुनावी पास की जिम्मेदारी मिली थी, लेकिन उनके द्वारा न तो स्थानीय पत्रकारों को सूचना दी गई और न ही एक भी पत्रकारों के लिए पास जारी किया गया है.  एक तरफ जहां स्थानीय स्तर पर होने वाले सभी निर्वाचन संबंधी समाचार को स्थानीय पत्रकार ही कवरेज करते हैं और उनको ही पारदर्शी मतदान के कवरेज के लिए चुनावी पास जारी न करने से पत्रकारों में जनसंपर्क अधिकारी के प्रति आक्रोश दिखाई दे रहा है. 

 

इस संबंध में श्रमजीवी पत्रकार संघ के जिलाध्यक्ष श्री तिवारी ने बताया कि यह पत्रकारों के अधिकारों का हनन है. पत्रकार समाज के चौथे स्तंभ होते हैं. उनके साथ ऐसा व्यवहार  सरासर गलत है. 

 

पत्रकार संघ के जिला उपाध्यक्ष प्रकाश सिन्हा ने बताया कि स्थानीय पत्रकारों के साथ सौतेला व्यवहार नहीं करना चाहिए. ग्रामीण स्तर के पत्रकार ही सही रिपोर्टिंग देते हैं. लेकिन उनका ही अगर चुनावी पास नहीं बना है तो अब वे समाचार कवरेज कैसे कर सकेंगे. 

 

श्रमजीवी पत्रकार संघ सरायपाली के ब्लॉक अध्यक्ष सुरेश गुप्ता ने बताया कि लगता है निर्वाचन विभाग को न्यूज कवरेज की आवश्यकता नहीं है. इसलिए स्थानीय पत्रकारों को महत्व नहीं दिए और न ही सूची मंगवाई. केवल जिला स्तर का ही सूची जारी करना समझ से परे है. क्या जिला के लोग ही सरायपाली तक आकर न्यूज कवरेज करेंगे यह भी एक बड़ा सवाल है।

इस संबंध में जनसंपर्क अधिकारी श्री शुक्ला से पूछे जाने पर बताया कि जिला स्तर से ही सूची गया था अन्य किसी का नहीं गया है और उनका ही चुनावी पास बना है. बात पूरी होने के पहले ही फोन काट दिए. 



संबधित खबरें