छत्तीसगढ़

19 लाख के 'गार्डन' को खोज रहे बसना नगरवासी, दो वर्ष पूर्व मुख्यमंत्री ने किया था भूमिपूजन..उद्घाटन होने से पहले जर्जर!

By: डीएनए न्यूज़। महासुमन्द
2018-11-06 04:35:47 PM
0
Share on:

  • लोग फोरलेन पर जान हथेली में रखकर करते है मॉर्निंग वॉक, दुर्घटना की आशंका

महासमुंद 06 नवम्बर 2018। सरकारी पैसे का कैसे दुरपयोग होता है वह नगर पंचायत बसना में आसानी से देख सकते है।बतादे की नगर पंचायत बसना के लोग एक पुुष्प वााटिका के मोहताज है। वही पुष्प वाटिका बनाने के लिए शासन ने लाखों रुपये नगर पंचायत बसना को दिया मगर अब वह भी भ्रष्टाचारकी भेंट चढ़ गई। 

ज्ञात हो कि दो वर्ष पूर्व छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बड़े तामझाम के साथ भूमिपूजन किया गया था। मगर दो वर्ष बीत जाने के बाद भी नगरवासियों को गार्डन मुहैया नही हो पाया है। यंहा के लोग 19 लाख से बने गार्डन को खोजने लगे है। 

भ्रष्टाचार की बदबू आने लगी गार्डन से
बतादे की बसना के जगदीशपुर मार्ग स्थित मंगल भवन के सामने बने गार्डन से खुशबू आने के बजाए भ्रष्टाचार की बदबू आने लगी है। गार्डन में बच्चों के मनोरंजन के लिए कई सामान भी लगाए गए लेकिन देखरेख के अभाव में ये जर्जर हो गए हैं। अधिकांश सामान टूट गए हैं, इससे बच्चों को इसका कोई फायदा नहीं मिल रहा है। 

दो साल से गार्डन का सपना देख रहे लोग
बसना नगर में शासन के पैसे खर्च कर भव्य गार्डन बनाने हेतु लगभग 19 लाख का बजट मिला मगर अब तक लोगो को गार्डन की सुविधा नही मिल पाई है। वही स्थानीय लोगों को इसका फायदा नही मिल पा रहा है। रोजाना सुबह व शाम बच्चे, महिला व पुरुष मनोरंजन करने गार्डन की कमी खिलती है मगर सरकार के पैसे का दुरुपयोग कैसे किया जा रहा यह नगर पंचायत बसना में देख सकते है। 

उद्घाटन होने से पहले बन्द हो गया गार्डन
नगर का एकमात्र गार्डन वह भी उद्घाटन होने से पहले देखरेख और मेंटेनेंस के अभाव में अब गार्डन बन्द होने के कगार पर है। सफाई के अभाव में सब तरफ कचरा बिखरा पड़ा है। गार्डन शुरू होने से पहले टूट-फुट गए। यहां बच्चों के लिए झूले, फिसलपट्टी आदि लगाए गए हैं। स्थानीय निवासी का कहना है कि लोगों की सेहत को ध्यान में रखकर गार्डन बनाया गया लेकिन गुणवत्ताहीन निर्माण के कारण गार्डन शुभारंभ होने से पहले जर्जर हो गया है। 

गार्डन के अभाव में फोरलेन में करते है मॉर्निंग वॉक
बसना में पैसे का दुरपयोग करना कोई अधिकारी और जनप्रतिनिधियों से सीखें। गार्डन बनाने के लिए शासन से पैसा आबंटित किया लेकिन उद्घाटन होने से पहले जर्जर होने लगा है। गार्डन नही होने से लोग मॉर्निंग वॉक करने के लिए फोरलेन सड़क में सुबह नजर आते है। वही लोग जान हथेली पर रखलर रॉन्ग साइड से होकर विचरण करते है जिससे कभी भी दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है।



संबधित खबरें