BIG BREAKING NEWS

अंततः बसना बीईओ निलंबित, मध्यान्ह भोजन में गबन मामले को लेकर 'DNA NEWS' ने दिखाया था ख़बर

By: महासुमन्द। प्रकाश सिन्हा
2018-11-02 01:45:32 AM
0
Share on:

महासुमन्द/बसना 02 अक्टूबर 2018। बसना विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी योगराम लहरे को छ.ग. शासन स्कूल शिक्षा विभाग के आदेश से निलंबित कर दिया गया है। उक्त निलबंन अवधि में कार्यालय संयुक्त संचालक(शिक्षा) रायपुर में नियत किया जाता है। 

छ.ग. शासन स्कूल शिक्षा विभाग के अवर सचिव से जारी आदेश पत्र क्रमांक एफ-2-35/2018/20-दो दिनांक 31/10/2018 के अनुसार योगराम लहरे का उक्त कृत्य छत्तीसगढ सिविल सेवा(आचरण) नियम 1965 के नियम 03 के विपरीत है।

 उक्त कृत्य के लिए योगराम लहरे विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी बसना को छ.ग. सिविल सेवा (वर्गीकरण,नियत्रंण,तथा अपील) नियम 1966 के नियम 09 के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। उक्त निलंबन अवधि में श्री लहरे का मुख्यालय कार्यालय संयुक्त संचालक (शिक्षा) रायपुर में नियत किया गया है। जहां उन्हे नियमानुसार निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।

बता दे कि उक्त शिकायत में जांच प्रतिवेदन प्राप्त होने के बाद महासमुन्द कलेक्टर ने दिनांक 04/08/2018 को योगराम लहरे को निलंबित करने के आशय से संचालक लोक शिक्षण संचालनालय रायपुर कार्यालय में पत्र भेजा था। निलबंन में देरी होने से मंत्रालय पहुंचकर मुख्य सचिव छ.ग. शासन एवं सचिव स्कूल शिक्षा विभाग को इस प्रकरण से अवगत भी कराया गया। जिसके बाद विभाग ने संज्ञान लिया।

क्या था पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार बसना विकासखण्ड शिक्षा कार्यालय में 19/08/2014 से 16/03/2018 के अवधि में मध्यान्ह भोजन योजनान्तर्गत खाते में जमा राशि के ब्याज राशि का कार्यालयीन सामाग्री खरीदी हेतु बारह लाख दो हजार पांच सौ चौसठ का आहरण कर्मचारी एवं सेल्फ चेक के माध्यम से किया गया था।

आरटीआई कार्यकर्ता विनोद दास ने महासमुन्द कलेक्टर से साक्ष्य सहित शिकायत किया था। जिस जांच में शिकायत सही पाया गया। जिसके कारण योगराम लहरे विरूद्व के विरूद्व उक्त राशि को अन्य मद में दुर्नवियोग करने के आरोप में पुलिस थाना बसना में एफआइआर दर्ज की गई।

'DNA NEWS' ने मध्यान्ह भोजन में गबन मामले को प्रमुखता से दिखाया था ख़बर। देखे पूरी रिपोर्ट...

http://dnachhattisgarh.com/v1/News/63



संबधित खबरें