EXCLUSIVE NEWS

भाजपा से स्थानीय प्रत्याशी को टिकिट नही मिलने से जमकर नाराज़गी, सोशल मीडिया में निकाल रहे भड़ास... समर्थकों के चेहरे में छाई मायूसी

By: डीएनए न्यूज़। प्रकाश सिन्हा, महासुमन्द
2018-10-30 12:35:13 AM
0
Share on:

बसना 29 अक्टूबर 2018। भाजपा ने आज अपनी तीसरी लिस्ट जारी कर दी। 11 प्रत्याशियों की सूची में भाजपा ने दो विधायकों के टिकट काट दिए। जिसमेें बसना से भाजपा की उम्मीदवार रुपकुमारी चौधरी को इस बार टिकट नहीं दिया है जबकि पार्टी ने उनके बदले डीसी पटेल को चुनाव मैदान में उतारा है।

दरअसल, बसना विधानसभा की टिकट को हाईप्रोफाइल तो माना जा रहा था। टिकिट देरी होने का कारण यह आंकलन किया जा रहा था कि बसना से भाजपा स्थानीय व जिताऊ प्रत्याशी की तलाश में है।

लेकिन जैसे ही भाजपा ने अपनी तीसरी सूची जारी की तो चौकानें वाले नाम सामने नजर आए। बसना से स्थानीय प्रत्याशी नही होने से लोगों में जमकर नाराज़गी देखी गई। वही दूसरी और भाजपा कार्यकर्ताओं में भी टिकिट  को लेकर उत्साह नजर नही आया।

नगर में चर्चा का माहौल यह भी रहा कि जो प्रत्याशी अपनी टिकट फाईनल कहकर लोगो से मिलते थे उनकी तो जुबान ही बन्द हो गई। ऐसा लग रहा है कि पांव तले जमीन खिसक गई हो!

कहीं खुशी तो कहीं गम

बसना विधानसभा में डीसी पटेल को टिकट मिलने से बसना समेत पिरदा ग्राम में उनके समर्थको ने फटाखे फोड़कर आतिशबाजी करते नजर आए। तो वही सोशल मीडिया पर अन्यत्र विधानसभा के उम्मीदवार को घोषित करने से नाराजगी देखने को मिली। इधर, भाजपा टिकिट के लिए रूपकुमारी चौधरी, पुरन्दर मिश्रा समेत संपत अग्रवाल को प्रबल दावेदार माना जा रहा था। वही टिकट कटने के कारण नेताओं एवं समर्थकों में मायूसी छा गई। बसना से रूपकुमारी चौधरी का टिकट काटकर डीसी पटेल को इस बार मौका दिया गया है।

सोशल मीडिया में निकाले रहे भड़ास

बतादे की बसना विधानसभा में स्थानीय प्रत्याशी नही होने से कार्यकर्ता समेत स्थानीय लोगो ने जमकर आक्रोश है। हद तब हो गई जब विरोध करने लोग अपने वाट्सऐप के स्टेट्स और फेसबुक में डालने लगे। वाट्सऐप में एक युवा ने यह तक लिख दिया कि बसना का विकास 5 साल पीछे चले गया। इसके अलावा लोग यह भी सवाल करते नजर आए की भाजपा से बसना में कोई नेता खरा नही उतरा जिस कारण उन्हें पैराशूट से लाना पड़ा। अब देखनी वाली बात है कि भाजपा ने जिसे टिकिट दिया है वह कितना खरा उतरता है.



संबधित खबरें