BIG BREAKING NEWS

महासुमन्द जिले के किस गांव में होगा चुनाव बहिष्कार... आक्रोशित ग्रामीणों ने फ्लेक्सी लगा कर चुनाव बहिष्कार में जुटे... क्या है पूरा मामला पढ़े पूरी ख़बर

By: डीएनए न्यूज़। महासुमन्द (सरायपाली)
2018-10-28 03:08:06 PM
0
Share on:

 

  • शौचालय व मनरेगा राशि का आहरण के बावजूद हितग्राहियों को नहीं हुआ भुगतान
  • गांव में बैठक लेकर लिया निर्णय, फ्लेक्सी लगाकर रैली भी निकाले


महासुमन्द/सरायपाली 28 अक्टूबर 2018। ग्राम पंचायत मोहदा में विभिन्न समस्याओं का निराकरण न होने एवं शौचालय, मनरेगा, पेंशन राशि आदि का भुगतान न होने से इसकी शिकायत ग्रामीण मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सरायपाली, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत महासमुंद में कई बार कर चुके हैं. लेकिन उन्हें अब तक केवल आश्वासन ही मिला है. जिससे आक्रोशित ग्रामीणों ने आगामी विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है.

इसके लिए ग्रामवासियों ने बकायदा बैनर पोस्टर चिपकाएं हैं और रैली निकालकर मतदान न करने की भी अपील की है.
 विधानसभा चुनाव के लिए अब कुछ ही दिन शेष हैं और मोहदा के ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार करने की चुनौती प्रशासन के समक्ष रख दी है.

 

भुगतान नही होने से ग्रामीण परेशान

ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि ओडीएफ योजना के अंतर्गत ग्राम मोहदा में निर्मित शौचालयों का भुगतान, मनरेगा के अंतर्गत तालाब गहरीकरण कार्य में लगे मजदूरों व टेक्टरों का भी भुगतान नहीं मिला है. इसके अलावा विगत 5 माह से निराश्रित, विधवा व वृद्धा पेंशन भी हितग्राहियों को अप्राप्त है. जबकि पंचायत द्वारा उपरोक्त राशियों का आहरण भी कर लिया गया है. उन्होने बताया कि विगत दो माह में कई बार आवेदन, धरना प्रदर्शन करने एवं प्रशासन द्वारा समस्याओं के निराकरण हेतु आश्वासन मिलने के बाद भी सभी समस्याएं जस की तस बनी हुई है. इसे देखते हुए ग्रामीणों में काफी आक्रोश व्याप्त है. विगत दिनों ग्राम वासियों के द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें एक मत होकर सभी ने चुनाव बहिष्कार करने का निर्णय लिया.

ग्राम में नही हुआ विकास, ग्रामीणों में आक्रोश

ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया है कि राशि संबंधी समस्याओं के अलावा भी ग्राम में विगत 5 वर्षों से किसी प्रकार के विकास कार्य नहीं हुए हैं. इसे देखते हुए उन्होने ग्राम पंचायत सचिव के स्थानांतरण एवं रोजगार सहायक के विरूद्ध जांच करने एवं भ्रष्टाचार साबित होने पर उनकी बर्खास्तगी की मांग भी की है. मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत सरायपाली को दिए शिकायत पत्र में समस्याओं के समाधान न होने तक एवं उनकी मांग पूर्ण न होने तक समस्त ग्राम वासियों द्वारा चुनाव बहिष्कार करने की बात कही गई है. 

 

   इस संबंध में मुख्यकार्यपालन अधिकारी जीडी सोनवानी से पूछे जाने पर बताया कि रोजगार सहायक एवं सचिव के खिलाफ कार्यवाही के लिए जिला कार्यालय को पत्र प्रेषित किया गया है. वहां से प्राप्त निर्देशानुसार कार्यवाही की जाएगी एवं चुनाव बहिष्कार की  स्थिति निर्मित नहीं होगी, ग्रामीणों को मना लिया जाएगा.



संबधित खबरें