छत्तीसगढ़

टिकट के लिए रायपुर, दिल्ली की दौड़ लगा रहे हैं प्रत्याशी, आज कल में हो सकता है फैसला

By: डीएनए न्यूज़। प्रकाश सिन्हा, महासुमन्द
2018-10-26 09:15:09 AM
0
Share on:

 

  • लो प्रोफाईल समझे जाने वाला सीट बन रहा है हाई प्रोफाईल।

सरायपाली 26 अक्टूबर 2018।  विधानसभा चुनाव में इस सीट पर अभी तक भाजपा कांग्रेस की ओर से प्रत्याशी घोषित नहीं किए जाने से राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है. दोनो प्रमुख पार्टी भाजपा एवं कांग्रेस के संभावित उम्मीदवार, नेता तथा कार्यकर्ता सभी प्रत्याशियों का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. सरायपाली क्षेत्र से कई कांग्रेसी एवं भाजपा के प्रबल उम्मीदवार रायपुर से लेकर दिल्ली की दौड़ लगा रहे हैं. वही भाजपा-कांग्रेस की माने तो आज कल में प्रत्याशी का चयन हो सकता है। 

अनुसूचित जाति वर्ग हेतु आरक्षित इस सीट में अभी तक टिकट का नाम दोनो पार्टियों में प्रत्याशियों का नाम फायनल न कर पाने से भी तरह-तरह की चर्चाएं जोरों पर हैं. अभी तक लो प्रोफाईल माने वाली सीट हाई प्रोफाईल बनते जा रही है. निश्चित रूप से यहां के समीपस्थ विधानसभा बसना को प्रदेश में सबसे हाई प्रोफाईल सीट माना जा रहा है, लेकिन सरायपाली के टिकट वितरण का चुनावी गणित अभी तक हल न होना भी समझ से परे है. 

यहां की सीट वर्ष 2008 में  ही अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित होने के बाद पिछड़ा वर्ग एवं सामान्य वर्ग के दिग्गज नेताओं का विधायक एवं मंत्री बनने का सपना चूर-चूर हो गया. वर्ष 2008 एवं 2013 में यहां पर कांग्रेस एवं भाजपा के संभावित प्रत्याशियों में ज्यादा भागदौड़ भी नहीं देखी गई और न ही यह सीट सबके  नजर में आ सकी. परंतु इस चुनाव में दोनो पार्टियों के कई प्रबल दावेदारों के हो जाने से टिकिट वितरण करने में भी शीर्षस्थ नेताओं के भी पसीने छूट रहे हैं, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है, कि इस विधानसभा की सूची अभी तक जारी नहीं हो सकी है.

अभी तक केवल आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी एवं शिव सेना ने अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है. लेकिन प्रमुख दो पार्टी भाजपा एवं कांग्रेस के प्रत्याशियों की पहली सूची में नाम न आने से यहां के वरिष्ठ नेता भी किसी भी नाम को ठोस तरीके से सामने नहीं रख पा रहे हैं. राजनीति से जुडे व्यक्ति सुबह अखबारों एवं टीवी समाचारों, सोशल मीडिया में भी सूची देखने के लिए लालायित है. 

सरायपाली में विधायक बनने की होड़ 

भाजपा कांग्रेस में कई दावेदार हैं लेकिन 4-5 नामों को लेकर ही चर्चाओं का बाजार गरम है. कांग्रेस में नेहरूल माहेश्वरी, कामपाल नंद, राधेश्याम विभार, किस्मतलाल नंद तथा भाजपा की ओर से रामलाल चौहान, श्रीमती सरला कोसरिया, श्याम ताण्डी, पुष्पलता चौहान, लोकनाथ बारी सबसे प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. 



संबधित खबरें