राजनीति

भाजपा के सभी दावेदार मान रहे अपनी 'टिकट' फाइनल, रूपकुमारी, डीसी, पुरन्दर, जगदीश समेत दर्जन भर नेता विधायक के दौड़ में

By: डीएनए न्यूज़। छत्तीसगढ़
2018-10-25 04:30:06 PM
0
Share on:

25 अक्टूबर 2018 महासुमन्द/बसना: भाजपा को बसना में प्रत्याशी तय करना किसी कोयले के खदान से हीरा तलाशने के बराबर है। लेकिन वह भी हीरा कितना चमकदार है वह जनता के ऊपर निर्भर करता है। 

जब से भाजपा की सूची जारी हुई है तब से महासमुंद जिले के दावेदारों की नींद उड़ गई है।  वैसे तो महासुमन्द की चारों विधानसभा सीटें हाई प्रोफाइल मानी जाती है. चार में तीन सीटों पर भाजपा का कब्जा रहा है। लेकिन अब चारों सीट पर भाजपा बहुमत के साथ आना चाहती है। इसलिए चार में तीन सीटों को हाईप्रोफाइल बना दिया गया है। प्रदेश में 90 प्रत्याशी में 78 की घोषणा हो चूंकि। परन्तु 12 सीटों को हाईप्रोफाइल माना जा रहा है। इन 12 सीटों में महासुमन्द जिले के तीन सीट क्रमशः सरायपाली, बसना महासमुंद शामिल है।

बसना में भाजपा के अनेक 'दावेदार'

विधानसभा चुनाव को देखते हुए बसना क्षेत्र में दर्जन भर भाजपा नेता सक्रीय है जो वर्तमान में टिकट को लेकर अपनी दावेदारी जाता रहे है. मगर पार्टी उसी का टिकट तय करेगी जिस पर उसे भरोसा हो की वह चुवाव जीत सके। बसना विधानसभा में टिकट की घोषणा होते ही कुछ भाजपा नेता बागी हो सकते है जिससे पार्टी को भी नुकसान उठाना पड़ सकता है. 

सक्रीय विधायक में रूपकुमारी आगे

विधायक उम्मीदवार में सबसे पहले बात करते बसना विधानसभा की तो वर्तमान विधायक श्रीमती रूपकुमारी चौधरी को अभी भी टिकिट के दौड़ में आगे बताया जा रहा है। वर्तमान विधायक से जनता में नाराजगी तो है वही कार्यकर्ताओं भी दिल से संतुष्ट नही है। वहीं जनसपंर्क की बात की जाए तो अन्य विधायकों से सबसे आगे है। 

प्रमुख दावेदार में पुरन्दर व युवा में पीयूष सक्रीय

विधायक के दावेदारों में प्रमुख रूप से पुरन्दर मिश्रा का नाम सामने है। बात दे कि पुरन्दर मिश्रा वर्तमान में अध्यक्ष अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री है। ज्ञात हो की श्री मिश्रा विगत 21 वर्षों से गांधी पदयात्रा व नशामुक्ति अभियान से जन जागरूकता अभियान चलाते आ रहे है।

वहीं पुरन्दर मिश्रा के सुपुत्र भी पिछले वर्ष से बसना विधानसभा में सक्रिय भूमिका रही है। कम समय मे पीयूष युवाओं के नेता बने और उन्हें भी बसना विधानसभा से युवा दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। 

दिग्गज नेता के रूप में डीसी पटेल चर्चित

बसना विधानसभा में दिग्गज दावेदार के रूप में डीसी पटेल का नाम लोगो के जुबानों पर है। कम समय मे क्षेत्र में अच्छी पकड़ बन गई है। श्री पटेल से शिक्षा प्राप्त अधिकारी-कर्मचारी समेत अन्य पार्टी के नेता भी अप्रत्यक्ष रूप से भरपूर सहयोग देने की बात कही जा रही है। ज्ञात हो कि उनकी धर्मपत्नी  श्रीमती अनिता पटेल वर्तमान में महासुमन्द जिला पंचायत अध्यक्ष है। संग़ठन में भी काफी सक्रीय होकर कार्य करने व युवाओं में जोश भरने का कार्य डीसी पटेल ने किया।

कोलता समाज से भी दो-तीन दावेदार आगे

बसना विधानसभा में चुनावी मैदान में इस बार कोलता समाज भी प्रमुख रूप से आगे है। कोलता समाज से भाजपा मंडल अध्यक्ष जगदीश प्रधान व सुधीर समेत अन्य दावेदार आगे है। बताया जा रहा है कि इस बार के चुनाव में कोलता समाज को टिकिट मिलने की संभावना जताई जा रही है। अब देखना यह है कि  भाजपा किसे अपना प्रत्याशी बनाता है और जनता किसे अपना नेता बनती है यह समय की तय करेगा। 

सभी नेता फाईनल मान रहे अपना टिकट

बसना में विधायक बनने की होड़ लग गई है। वही भाजपा के प्रायः सभी दावेदार अपनी टिकट फाइनल समझ रहे है। वहीं अपने शुभचिंतक और कार्यकर्ताओं का मनोबल न टूटे इसलिए अपना टिकट पक्का मान रहे हैं. बसना विधानसभा से टिकिट आज या कल फ़ाइनल होने की बात कही जा रही है। अब देखना यह होगा की पार्टी किसे टिकट देती है.



संबधित खबरें