छत्तीसगढ़

विधायक पति से नाराज सैकड़ो भाजपा कार्यकर्ता पहुंचे रायपुर, बसना से रूपकुमारी को मिला तो हो सकता है नुकसान!

By: डीएनए न्यूज़। छत्तीसगढ़
2018-10-25 11:04:25 AM
0
Share on:

25 अक्टूबर 2018 बसना। विधानसभा चुनाव जैसे जैसे नजदीक आते जा रहा है वैसे ही 'माननीय' लोग बेलगाम होते जा रहे। वही आपसी लड़ाई के चलते प्रदेश के अलाकमान भी निर्णय लेने से कतरा रहे है। बसना में भाजपा प्रत्यासी को लेकर असमंजस की स्थिति बन गई है। इसी बीच बसना विधानसभा में गुटबाजी अभी से प्रारम्भ हो गया है।

बसना मंडल श्रीमती रूपकुमारी के पक्ष में तो सांकरा विरोध की बोली बोल रहा। बतादे की बसना विधानसभा में वर्तमान विधायक रूपकुमारी चौधरी की टिकट को लेकर हल्ला शुरू हो गया है। जबकि अभी यहां टिकट का वितरण नहीं हुआ है। बतादें कि बसना विधायक के प्रति कार्यकर्ताओं में रोष है।

बुधवार को बसना क्षेत्र के करीब सैकड़ो भाजपा कार्यकर्ता राजधानी एकात्म परिसर संगठन मंत्री से मिलने पहुंचने की बात सामने आई है।  दरअसल अभी हाल ही में सांकरा मंडल अध्यक्ष सहित 10 लोगों की सड़क दुघर्टना में मौत हो गई थी। जिसमें बताया जा रहा है कि अंतिम अंत्येष्ठी में पहुंचे विधायक रूपकुमारी चौधरी के पति द्वारा अर्नगल टिप्पणी की गई थी।
 टिप्पणी के बाद लोगों में गुस्सा है।

भाजपा प्रदेश किसान संगठन मंत्री सतपाल सिंह छाबड़ा ने बताया कि जिन कार्यकर्ताओं के भरसक प्रयास के बाद रूपकुमारी को जिताया गया था, लेकिन चुनाव जीतने के बाद कार्यकर्ताओं को पूछा तक नहीं गया। वर्तमान में पूरे विधानसभा में विरोध है, ऐसे में पुन: टिकट यहां से दी गई तो भाजपा को मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है।

विरोध करने पहुंचे सांकरा मंडल के सक्रिय सदस्य

सतपाल सिंह छाबड़ा के नेतृत्व में कृष्णकुमार साहू, रविप्रकाश प्रधान, मनोज बारीक, देवार्चन प्रधान, पुरूषोत्तम घृतलहरे  सहित भारी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता आज रायपुर भाजपा कार्यालय पहुंचे हैं, जहां पर संगठन मंत्री से मुलाकात भी होना बताया गया। 

पहली सूची में रूपकुमारी को टिकिट नही मिलने से नाराज
इधर, कुछ भाजपाईयों का कहना है कि टिकट वितरण को लेकर देरी अथवा पहली सूची में वर्तमान विधायक श्रीमती रूपकुमारी चौधरी का नाम नही आने से मंडल प्रमुखों में नाराज़गी देखी गई। जिसमे बाकायदा मीडिया को बुलाकर कहना पड़ा कि रूपकुमारी को ही टिकिट देनेे की मांग भाजपा मंडल बसना, गढ़फुलझर समेत पिथौरा के पदाधिकारियों ने मांग की।



संबधित खबरें