क्राइम ख़बर

25 करोड़ रुपए की ठगी करने वाले चिटफंड कंपनी के दो डायरेक्टर गिरफ्तार

By: डीएनए न्यूज़। छत्तीसगढ़
2018-10-14 11:22:58 PM
0
Share on:

14 अक्टूबर रायपुर :  देशभर में कीम इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपर्स का दफ्तर खोल पैसे दोगुना करने का झांसा देकर लगभग एक हजार करोड़ रुपए की ठगी करने वाले चिटफंड कंपनी के डायरेक्टरों और मैनेजर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव से करीब 25 करोड़ रुपए ठगी कर साल 2016 में कंपनी बंद कर फरार हो गए थे। 
पुलिस ने तीनों को पंजाब और दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से रायपुर समेत 9 राज्यों में करीब साढ़े 400 एकड़ जमीन का ब्योरा मिला है। एसएसपी अमरेश मिश्रा ने बताया कि अमृतसर पंजाब निवासी रविन्दर सिंह सिद्धू, गुरुदासपुर पंजाब निवासी खजान सिंह और मुख्तसर सिटी जिला मुख्तसर पंजाब निवासी नरेंदर सिंह को गिरफ्तार किया गया है। उनके खिलाफ छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्यों में कुल 9 धोखाधड़ी का केस दर्ज है। रविंदर सिंह कीम इंफ्रास्ट्रक्चर और खजान सिंह नेक्टर कामर्शियल ऑफ कंपनी के डायरेक्टर हैं और नरेंदर सिंह कंपनी में मैनेजर था।

एसएसपी के मुताबिक डायरेक्टरों ने निवेशकों रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव में हजारों निवेशकों से करीब 25 करोड़ रुपए ठगी की है। उनके पैसे से ग्वालियर (मोहना) में 250 एकड़, ग्वालियर सिटी से सटे इलाके में 40 एकड़, हरियाणा के शाहबाद में 10 एकड़, डेरा बस्ती पंजाब में 2 एकड़ का फार्म हाउस और छत्तीसगढ़ के तिल्दा, अभनपुर, बागबहरा में करीब 80 एकड़ जमीन खरीदे। वहीं क्राइम ब्रांच की टीम ने पंजाब और दिल्ली में डेरा जमाकर दोनों डायरेक्टरों को गिरफ्तार किया है।

क्या है पूरा मामला
पुलिस के मुताबिक लोधीपारा चौक के पास कीम इंफ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलर्स लिमिटेड कंपनी का दफ्तर था। साल 2011 में भीम शंकर साहू से कंपनी के ब्रांच मैनेजर की मुलाकात हुई।उसने आरबीआई और सेबी से मुख्य कार्यालय 909 विशाल टाॅवर जिला सेंटर जनकपुरी न्यू दिल्ली रजिस्टर्ड हाेना बताया और पैसे निवेश करने पर 6 साल 3 महीने में पैसे दोगुना व गिफ्ट में कार, बाइक देने का झांसा दिया।
उसकी बातों में आकर उसने करीब 33 लाख रुपए कंपनी में निवेश किए। वहीं श्रवण कुमार निवासी रिसाली भिलाई ने 4 लाख, राजेंद्र कुमार ने 30 हजार, अंशु यादव निवासी गनियारी रसमड़ा ने 30 हजार, प्यारेलाल साहू निवासी उतई ने 60 हजार रुपए और लालचंद साहू निवासी उतई ने 48 हजार समेत कुल 12 निवेशकों ने लाखों रुपए निवेश किया।कंपनी ने उनको बीमा पॉलिसी बांड दिया, लेकिन पैसे वापस नहीं किए। इससे परेशान होकर निवेशकों ने एसएसपी अमरेश मिश्रा से शिकायत की, जिस पर हफ्तेभर पहले डायरेक्टरों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया।
एसएसपी के मुताबिक रविंदर सिंह और खजान सिंह दोनों ने मिलकर साल 2005 में कीम इंफ्रास्टक्चर एंड डेवलपर्स लिमिटेड कंपनी का रजिस्ट्रेशन कराया, जिसका हेड आफिस पंजाब में था।कंपनी की ग्वालियर से शुरुआत की। इसके बाद गुजरात, पंजाब, यूपी, जम्मू-कश्मीर,पंजाब और छतीसगढ़ में कंपनी का दफ्तर खोल पैसे निवेश कराए। साल 2010 में सेबी की तरफ से कंपनी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया। 
जिसके बाद साल 2011 में नेक्टर कमर्शियल ग्रुप आॅफ कंपनी के डायरेक्टर खजान सिंह ने कंपनी खोल ली और मैनेजर नरेंदर सिंह पंजाब से नेटवर्क संचालित करने लगा। साल 2008 में कंपनी ने रायपुर, दुर्ग और राजनांदगांव में दफ्तर खोलकर कारोबार शुरु किया और साल 2016 में बंद कर फरार हो गए।



संबधित खबरें