छत्तीसगढ़

पिन की सहायता से कैसे बचें, बिना हथियार दुश्मनों को सबक सीखने का गुर सिखाते है मनोज

By: डीएनए न्यूज़। छत्तीसगढ़
2018-10-14 02:57:20 AM
0
Share on:

हमर पुलिस हमर संग के तहत 900 छात्राओं ने सीखा आत्मरक्षा के गुर

महासमुंद/बसना 13 अक्टूबर: जिले में हमर पुलिस हमर संग के द्वारा चलाये जा रहे मुहिम अंतर्गत बसना में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन शासकीय कन्या उत्तचर माध्यमिक शाला बसना में संपन्न हुआ। महिला आत्मरक्षा और साइबर क्राइम के बारे में विस्तार से बताया गया। 
जहाँ छात्राओ को निर्भीक और सशक्त बन अपनी पहचान बनाने के लिए प्रेरित किया. यह कार्यक्रम पुरे जिले में पुलिस अधीक्षक श्री संतोष सिंह के निर्देशन में चलाया जा रहा है। 

हमर पुलिस हमर संग के मास्टर ट्रेनर मनोज डडसेना ने छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए. कार्यक्रम के बताया गया कि यदि कोई भी असामाजिक तत्व उनके साथ अप्रिय घटना को अंजाम देने की हिम्मत करता है तो उससे बिना डरे निडर होकर सामना करना है.

मनोज डडसेना ने छात्राओ से कहा कि आत्मरक्षा के सीखे गए गुर जीवन भर काम आते हैं. लड़कियों को सशक्त होकर आगे बढ़ना चाहिए ताकि वे अपने माता-पिता व बेटियों का नाम रोशन कर सकें. उन्होंने छात्राओं से मुखातिब होते हुए कहा कि उनमें से ही कल बड़ी अफसर बनेंगी तो उन्हें अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ने के लिए हर लिहाज से मजबूत होना होगा. वे खुद को कमजोर न समझे बल्कि डटकर सामना करें. 

वही आत्मरक्षा करने के उपाय बताए गए। जिसमे पिन कि सहायता से अपने आप को बचाने के तरीके व बिना हथियार दुश्मनों को सबक सीखाने के नये नये तरीके बताये गये छात्राओं को बिना डरें साहस पुर्ण रहने प्रेरित किया गया। इसके अलावा मास्टर ट्रेनर मनोज डडसेना ने कार्यक्रम के माध्यम से टोल फ्री नम्बर 112, 108, 102 की जानकारी भी दी गई और कहा कि किसी भी आपातकालीन जैसे स्थित में आप इसकी मद्द ले सकते है.

 उक्त कार्यशाला में लगभग 900 छात्राओं ने कार्यक्रम मे भाग लिया। आत्मरक्षा के गुर सीख छात्र गदगद हुए। वही स्कूल प्राचार्य, शिक्षक समेत बसना थाना प्रभारी शरद कुमार ताम्रकर का भरपूर सहयोग रहा।

सोसल मीडिया का कैसे करे उपयोग

कार्यक्रम के दौरान आत्मरक्षा के अलावा साइबर सुरक्षा और स्कूल में लगे शिकायत पेटी के बारें में भी बताया गया. साइबर सुरक्षा में बताया गया कि सोशल साइट में धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले संदेश भेजना और किसी की फेक प्रोफाइल बनाना एक अपराध है और ऐसा करने से बचे. इसके अलावा पर्सनल फोटो फेसबुक और वाटसएप जैसी सोशल साइट में सतर्कता पूर्वक डालने की बात कही गई. और फेसबुक प्रोफाइल में लोकेशन शेयर करने से बचने के बारें में बताया गया.



संबधित खबरें