वायरल ख़बर

पूर्व मंत्री रजिंदरपाल भाटिया पर सम्प्रदायिक तनाव फैलाने का आरोप, न्यायालय मे परिवाद पेश

By: रोहन सिन्हा / डोंगरगढ़ (राजनांदगांव)
2018-10-12 12:31:55 PM
0
Share on:

  • भाटिया के खिलाफ परिवाद पेश ईस्लाम धर्म के खिलाफ अपराधिक आपत्तिजनक पोस्ट वायरल मामला
  • न्यायालय ने छुरिया थाना को मामला को लेकर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने का दिया आदेश

12 अक्टूबर राजनांदगांव/छुरिया :  पूर्वमंत्री रजिंदरपाल भाटिया ने मई 2018 मे हरिभूमि व्हाटसएप ग्रुप मे ईस्लाम धर्म के खिलाफ अपराधिक अशोभनीय लेख वायरल करने को लेकर छुरिया थाना मे शिकायत दर्ज कर एफ,आई,आर दर्ज करने की मांग की गई थी पुलिस प्रशासन ने 5 माह बीत जाने के बाद व गवाहो के ब्यान मे अपराध की पुष्टि होने के बाद भी न ही धारा 155 के तहत पुलिस हस्तक्षेप आयोग्य बताया न ही अपराध दर्ज किया जिसे लेकर मुस्लिम समुदाय के लोंगों ने एफआईआर दर्ज करने ज्ञापन भी सौंपा था लेकिन कोई ठोस कार्यवाही नही होने पर शिकायत कर्ता अकील मेमन ने न्यायालय प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी राजनादगांव की अदालत मे अपने वकील के माध्यम से परिवाद प्रस्तुत किया है।

ज्ञात हो कि ईस्लाम धर्म के खिलाफ बेहद आपत्ति जनक वायरल पोस्ट को लेकर मुस्लिम समाज आहत हुआ था  व अपराध दर्ज करने छुरिया थाना मे धरना प्रदर्शन किया था व राजनादगांव डोंगरगड़ जमात ने भी पुलिस अधीक्षक कलेक्टर सांसद अभिषेक सिंह को ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की मांग की थी इस मामला को लेकर अन्य धर्म के लोंगों ने कडी़ भर्तसना कर कार्यवाही की मांग की थी।


आरोप है कि मामला को दबाने कुछ लोंगो के साथ जो थाना मे श्री भटिया के खिलाफ कथन दर्ज कराया था। वही मुस्लिम जमात के लेटर पेड मे आरोपी रजिंदरपाल भाटिया के माफी मांगने का उल्लेख कर 20-30 लोंगो के हस्ताक्षर से ज्ञापन दिया गया था जिसमे माफीनामा सलग्न नही था न ही उक्त लेटर पेड मे दिनांक दर्ज है न ही किसी जिम्मेदार पदाधिकारी के नाम अथवा शील लगा हुआ है इसको लेकर कुछ लोंग जिनके हस्ताक्षर है वे हस्ताक्षर करने से इन्कार कर रहे है एक पार्षद ने ज्ञापन मे दो जगह हस्ताक्षर किये है जिसमे एक जगह सादिक भाई पार्षद व एक पन्ने मे सादिक मेमन के नाम से हस्ताक्षर है जिससे कयास लगाया जा रहा है कि आरोपी को बचाने ज्ञापन के नाम गड़बड़ी की गई है।खबर है कि इस ज्ञापन मे एक ही परिवार के महिला पुरूष के नाम का उल्लेख है जिससे कयास लगाया जा रहा है कि पुलिस विवेचना को गुमराह करने एैसे दस्तावेज तैयार किया गया। बहरहाल मामला अब न्यायलय पहुंच गया है जंहा गवाहों के कथन व पुलिस विवेचना को संज्ञान मे लेकर आदेश प्रसारित होगा इस मामला मे पूर्व मंत्री रजिंदरपाल भाटिया व व्हाटसएप एडमिन को आरोपी बनाया गया है जिसकी सुनवाई 28 अक्टुबर को होगी न्यायलय मे मामला जाने के बाद आरोपियों की मुश्किलें बड़ सकती है। मुस्लिम समाज के वरिष्ठ सदस्य सिद्दीक मेमन ने कहा है कि माननीय न्यायलय मे परिवाद प्रस्तुत है जंहा फैसला होगा उन्होने पुलिस को गुमराह करने दस्तावेज बनाने गड़बड़ी करने वालों के उपर भी विधि सम्मत कार्यवाही की मांग की है।

अपराध दर्ज करने न्यायालय से आग्रह 
दायर परिवाद अंतर्गत धारा 190 द,प्र,स, एंव 67 सूचना प्रौघोगिकी सह धारा 66(क) साईबर सह अपराध सह धारा 109,120,153,(क),295(क) भा,द,वि के तहत ईस्लाम धर्म के खिलाफ  व्हाटसएप पर अपराधिक असम्मानजनक अशोभनीय लेख वायरल कर साम्प्रदायिक तनाव फैलाने की साजिस करने संज्ञान मे लेकर अपराध दर्ज करने न्यायलय से आग्रह किया है। जानकारी के अनुसार न्यायालय ने छुरिया थाना को मामला को लेकर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने का आदेश दिया है जिसकी सुनवाई उपरांत अपराध पाये जाने पर न्यायालय व्दारा आदेश पारित किया जायेगा जिसके चलते अपराधिक लेख वायरल करने वालों के खिलाफ एफ,आई,आर दर्ज होने की संभावना जताई जा रही है। खबर है कि परिवादी ने न्यायालय को मामला के हर पहलु को अपने परिवाद मे दर्ज कर संज्ञान लेकर अपराध दर्ज करने आदेश देने की मांग की गई हैं। 

भाजपा से बागी भाटिया की घरवापसी

वर्तमान समय मे विधानसभा चुनाव होने है और भाजपा से बागी रहे भाटिया फिर भाजपा प्रवेश कर लिया है। अफवाह यह है कि विधायक टिकिट की मंशा से भाजपा में घरवापसी होने की खबर है। पूर्व में बीजेपी ने इनका टिकट काट दिया था और भजपा से से बागवत करके निर्दलीय लड़ा और चुनाव हार गया। वहीं साहू बहुल क्षेत्र होने के कारण वर्तमान मे कांग्रेस से भोला राम साहू विधायक है। विडम्बना यह है कि छुरिया व खुज्जी में सिर्फ एक ही सिक्ख परिवार है लेकिन राजनीति में दबदबा बनाये हुए है।  



संबधित खबरें